कोलकाता-हावड़ाटॉप न्यूज़बंगाल

बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा पंचतत्व में विलीन

कोलकाता : बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष सोमेन मित्रा का गुरुवार को निधन के बाद शाम में उनका पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। कोलकाता के नीमतला श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया जिसमें कांग्रेस सहित सभी दलों के नेताओं व बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं व आम लोगों ने उपस्थित होकर उन्हें अंतिम विदाई दी।

Somen Mitra Funeral:बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा पंचतत्व में विलीन, अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में जुटे लोग

मित्रा का बुधवार व गुरुवार की देर रात करीब 1:30 बजे कोलकाता के एक निजी अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। 78 वर्षीय मित्रा कई बीमारियों से ग्रसित थे और पिछले कई दिनों से उनका इलाज चल रहा था। इधर, निधन के बाद कांग्रेस नेता का पार्थिव शरीर सबसे पहले कोलकाता स्थित प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय विधान भवन लाया गया।

Somen Mitra Cremated At Nimtala Mahashamshan Ghat | 'তুমি ...
सोमेन के शव के पास बिलखतीं उनकी धर्मपत्नी

यहां श्रद्धांजलि देने के बाद उनका पार्थिव शरीर विधानसभा परिसर लाया गया। यहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित सभी दलों के नेताओं ने पुष्पगुच्छ अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसके बाद मित्रा का शव कोलकाता के राउडन स्ट्रीट उनके वर्तमान निवास स्थान पर लाया गया। फिर यहां से उनके पार्थिव शरीर को पैतृक निवास स्थान अम्हर्स्ट स्ट्रीट होते हुए शाम में नीमतला श्मशान घाट लाया गया। यहां उनके पुत्र रोहन मित्रा ने उनको मुखाग्नि दी।

Somen Mitraउल्लेखनीय है कि 78 वर्षीय सोमेन मित्रा को कुछ दिनों पहले किडनी में समस्या के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनका दो बार डायलीसीस भी हुआ। लेकिन अचानक कार्डियक अरेस्ट की वजह से गुरुवार देर रात उनका निधन हो गया है। कांग्रेस के दिग्गज नेता और लोकसभा के पूर्व सांसद सोमेन मित्रा का जन्म 31 दिसंबर 1943 को हुआ था। उनका एक बेटा रोहन मित्रा हैं, जो राजनीति में पिता की तरह सक्रिय रहते हुए फिलहाल प्रदेश युवा कांग्रेस के उपाध्यक्ष की भूमिका निभा रहे हैं।

78 वर्षीय बुजुर्ग कांग्रेसी नेता मित्रा सियालदह से 7 बार विधायक रहे। इसके बाद वह डायमंड हार्बर सीट से तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर 2009 में सांसद भी चुने गये थे। सोमेन मित्रा प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में से एक थे। एक दौर में वह ममता बनर्जी के साथ भी थे, लेकिन बाद में मोहभंग होने के बाद उन्होंने दोबारा कांग्रेस का दामन थाम लिया था। सोमेन का सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा राहुल गांधी के साथ उनके बहुत अच्छे संबंध थे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close