कोलकाताटॉप न्यूज़बंगाल

ममता ने बंगाल में 21 मई तक लॉकडाउन सम्बन्धी व्यवस्था बढ़ाने के संकेत दिए

बंगाल के रेड जोन, ओरेंज जोन और ग्रीन जोन की सूची जारी, पीड़ितों की संख्या बढ़कर 504, मृतकों की संख्या पूर्ववत-20

कोलकाता। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में 21 मई तक लॉकडाउन सम्बन्धी व्यवस्था बढ़ाए जाने का संकेत दिया। इसी के साथ उन्होंने राज्य के रेड जोन, ओरेंज जोन तता ग्रीन जोन की पूरी सूचि भी जारी कर दी। कहा कि रेड जोन में लोॉकडाउन कड़ाई के साथ पालन किया जाएगा। ओरेंज जोन तथा ग्रीन जोन में नए सिरे से दुकानें खोलने पर विचार किया जा रहा है, बुधवार को इस पर निर्णय किया जाएगा।

बनर्जी ने कोरोना रोधी अभियान को तेज करने के लिए वित्त मंत्री डा. अमित मित्रा के नेतृत्व में एक कमिटी का गठन किया। कमिटी में 4 मंत्रियों के साथ साथ कुछ विभागों के सचिव तथा राज्य के मुख्य सचिव को भी रखा गया है।

पश्चिम बंगाल में एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 504 हो गयी है। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मौजूदगी में मुक्य सचिव ने नवान्न सचिवालय में आज संवाददाताओं को यह जानकारी दी और बताया कि पिछले 24 घंटे में राज्य में किसी कोरोना पीड़ित की मृत्यु नहीं हुई है।

राज्य में 12,043 लोगों का कोविडे टेस्ट परीक्षण किया जा चुका है। बंगाल में पहले केवल 1 लैब में टेस्ट होता था, लेकिन यह संख्या बढ़ाकर अब 14 कर दी गयी है। सरकार के अधीन आईसोलेशन बेड पर फिल्हाल 7,969 लोग चिकित्सारत हैं। अस्पतालों से स्वस्थ होकर 109 लोग घर जा चुके हैं।

मुख्य सचिव राजीव सिन्हा ने बताया कि पश्चिम बंगाल में बीमारी से मुक्ति का प्रतिशत 18 है, जो अन्य कई राज्यों की तुलना में बेहतर है। ममता ने कहा कि वे टोटल 49 दिनों के लॉकडाउन के पक्ष में हैं।

एक सवाल पर मुख्य सचिव ने बताया कि पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन नियमों के अधीन कारखाने खोलने के लिए अब तक 4370 आवेदन मिले हैं, जिनमें से 2084 कारखानों को उत्पाद शुरू करने की अनुमति दे दी गयी है। कंटोनमेंट जोन में होने के कारण 1463 आवेदनों को रद्द किया गया है। इन इलाकों के रेड जोन से बाहर निकलते ही इनके आवेदनों पर फिर से विचार किया जाएगा।

मुख्य सचिव ने बताया कि पश्चिम बंगाल के 8 जिलों में कोरोना से संक्रमित एक भी रोगी नहीं है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों के कारण लोगों में भ्रान्ति बढ़ रही है। या तो सही ढंग से लॉकडाउन करो, या फिर ढील दो। गृह मंत्रालय अचानक कई क्षेत्रों में दुकानें खोलने की बात कहता है, दुकानदार असमंजस की स्थिति में पड़ जाते हैं। यह गलत है।

लोगों को स्पष्ट निर्देश दिया जाना चाहिए। केन्द्रीय टीम पर टिप्पणी करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि हम जिस समय काम करने में व्यस्त थे, केंद्र सरकार ने अपनी टीम भेजकर तकरार बढ़ाने का काम किया।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार बंगाल पर दबाव बना रही है, भय दिखा रही है। यह नहीं हो सकता। हम किसी भी प्रकार की राजनीतिक दखलंदाजी नहीं बर्दाश्त करेंगे। ममता बनर्जी ने कहा कि आज उन्होंने प्रधानमंत्री के साथ वीडियो बैठक में भाग लिया था, लेकिन आज तय कार्यक्रम के अनुसार अन्य राज्यों के बोलने की बात थी, इसलिए बंगाल अपना पक्ष नहीं रख पाया। ममता ने कहा कि बंगाल के युवक देश में जहां भी हैं, अपने काम से राज्य का नाम रोशन कर रहे हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close