कोलकाता-हावड़ाटॉप न्यूज़बंगाल

बड़ाबाजार में बढ़ते कोरोना संक्रमण से लोगों में खौफ, कइयों की हो चुकी है मौत, कई हैं चिकित्साधीन

वृहत्तर बड़ाबाजार के गिरीश पार्क, मुक्ताराम बाबू स्ट्रीट, सर हरिराम गोयनका स्ट्रीट और आर्मेनियन स्ट्रीट ऐसे क्षेत्र हैं, जहां कुछ वाशिन्दों को कोरोना ने अपनी चपेट में लेकर मौत की नींद सुला दिया

कोलकाता। कोरोना महामारी के इस दौर में कब कौन संक्रमित हो जाए, कोई नहीं कह सकता। एक ऐसा रोग, जिसके जीवाणु देखे तक नहीं जा सकते, आज पूरी दुनिया को अपने काबू में करके रूलाए जा रहा है। पश्चिम बंगाल में भी कोरोना वायरस अपने पैर पसार चुका है।

इन पंक्तियों के लिखे जाने तक राज्य में 20 लोगों की मौत हो चुकी है और सैंकड़ों लोग अस्पतालों में ईलाजरत हैं। हजारों लोग अस्पताल और निजी घरों में क्वारंटीन हैं। संक्रमण की इस आग में बड़ाबाजार भी अछूता नहीं रहा है।

Kolkata: Burrabazar garments hub new problem point | Kolkata News ...

वृहत्तर बड़ाबाजार के गिरीश पार्क, मुक्ताराम बाबू स्ट्रीट, सर हरिराम गोयनका स्ट्रीट और आर्मेनियन स्ट्रीट ऐसे क्षेत्र हैं, जहां कुछ वाशिन्दों को कोरोना ने अपनी चपेट में लेकर मौत की नींद सुला दिया। बड़ाबाजार के जोड़ाबागान अंचल के मरीज भी कोरोना की चपेट में आए, लेकिन सुखद रहा कि चिकित्सा के बाद कुशल पूर्वक लौट आए।

वार्ड-42 में आर्मेनियन स्ट्रीट के एक मकान के केयरटेकर की कोरोना से मृत्यु होने की खबर से लोगों में खौफ व्याप्त है और लोग अपने घरों में कड़ाई से लॉकडाउन में कैद हैं। वार्ड पार्षद सुनीता झंवर और भाजपा नेता किशन झंवर ने कहा कि सशंकित इलाकों में सेनेटाइजेशन का काम किया गया है तथा लॉकडाउन को लेकर लोगों को सचेत किया जाता रहा है। वार्ड-23 बड़ाबाजार का हमेशा व्यस्त रहने वाला है।

यहां पिछले एक पखवाड़े में कम से कम 6 मरीज चपेट में आए, जिनमें से सरकारी आंकड़ों के अनुसार, 2 लोगों की कोरोना वायरस के कारण मृत्यु हो गयी।

Kolkata lockdown news: Today's updates from your city | Kolkata ...सर हरिराम गोयनका स्ट्रीट तथा समीपवर्ती अंचलों को वार्ड पार्षद विजय ओझा की पहल पर सेनेटाइज करवाने का काम भी बदस्तूर हुआ है, लेकिन स्थानीय लोगों में भयंकर आतंक व्याप्त है। ओझा ने एक वीडियो संदेश में लोगों से घरों में रहने का निवेदन करते हुए कहा है कि इलाके के हर नागरिक की सुरक्षा के लिए वे अपने कार्यकर्ताओं के साथ सचेष्ट हैं। इस अंचल में रिहाइशी मकानों के अलावा हजारों व्यापारिक प्रतिष्ठान हैं। देर-सबेर लॉकडाउन उठने के बाद बाजार भी खुलेंगे ही, लेकिन लोगों को वायरस का खौफ सता रहा है।

रविवार को पास ही के रविन्द्र सरणी स्थित मारवाड़ी रिलीफ सोसाइटी के 2 कर्मियों को भी कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया। अस्पताल के डॉक्टर और नर्स सहित 15 लोगों को क्वारंटीन कर दिया गया और अस्पतालों में नए मरीजों की भर्ती बन्द कर दी गयी है।

अस्पताल के प्रमुख गोविन्दराम ढाणावाला ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा क्लीन चिट दिए जाने तक इमरजेंसी सहित अस्पताल के सभी बन्द रहेगे। सोसाइटी अस्पताल को सेनेटाइज कराया जा चुका है औऱ इसमें पहले से भर्ती मरीजों को अन्य अस्पतालों में स्थानांतरित किए जाने पर विचार हो रहा है।

Show More

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close